सरस जनवाद

एकाग्र रहकर कमजोर छात्र भी प्राप्त कर सकते हैं लक्ष्य: डीआईजी

Share

नैनीताल: कुमाऊं विश्वविद्यालय में चल रहे दीक्षारंभ कार्यक्रम के चतुर्थ दिवस गुरुवार को मुख्य अतिथि के रूप में कुमाऊं परिक्षेत्र के पुलिस उप महानिरीक्षक डॉ. नीलेश आनंद भरणे ने छात्रों को उद्बोधित करते हुए भविष्य के प्रति एकाग्र रहने का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि यदि सामान्य बुद्धिलब्धि का छात्र भी अनवरत अध्ययन एवं अभ्यास करते रहे तो निश्चित रूप से वह अपने उच्चतम लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ हो सकता है। इसलिए सभी छात्र पूर्ण निष्ठा एवं पूर्ण एकाग्रता के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करें। उन्होंने छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की लिखित परीक्षा एवं साक्षात्कार के लिए भी उपयोगी टिप्स दिए।

कार्यक्रम में समाजशास्त्र की विभागाध्यक्ष प्रोफेसर ज्योति जोशी, योग विभाग की प्राध्यापक डॉ. सीमा चौहान आदि ने भी संबोधित किया और सूर्य नमस्कार, वृक्षासन, शीर्षासन व सर्वांगासन आदि प्रस्तुत किये। संचालन डॉ. निधि वर्मा एवं प्रो. ललित तिवारी ने किया। मुख्य संयोजक डॉ. गीता तिवारी ने अब तक हुए कार्यक्रमों की आख्या प्रस्तुत की। संस्कृत विभाग के शोधार्थी भास्कर कांडपाल ने वैदिक मंगलाचरण किया। कार्यक्रम में पोस्टर व निबंध प्रतियोगिता एवं एल्यूकेशन के परिणाम घोषित किए गए।

डॉ. रीना सिंह, डॉ. लज्जा भट्ट, डॉ. अनिल बिष्ट एवं डॉ. पैनी जोशी निर्णायक मंडल में रहे। इस दौरान अभिषेक मेहरा के संचालन में आशुभाषण प्रतियोगिता भी हुई। जिसमें प्रथम पुरस्कार वंदना को, द्वितीय पुरस्कार महक को एवं तृतीय पुरस्कार शालिनी को प्राप्त हुआ। डॉ. दीपाक्षी जोशी ने धन्यवाद ज्ञापन किया।