सरस जनवाद

मजदूर संघ ने खोला दूरसंचार अधिकारी मुकुल काम्बले के खिलाफ मोर्चा

Share

नई दिल्ली :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत अभियान जोर-शोर से पूरे देश में चल रहा है लेकिन कहते हैं कि चिराग तले अंधेरा होता है। इस कहावत को पूरी तरह से चरितार्थ तीस हजारी एमटीएनएल का वह कार्यालय कर रहा है जहां गंदगी का अंबार लगा हुआ है।यह हम नहीं कह रहे है बल्कि मजदूर संघ इस मामले को लेकर दूरसंचार अधिकारी श्री काम्बले का लगातार विरोध कर रहा है। इसका ताजा उदाहरण आगामी 18 अगस्त को देखने को मिल सकता है। जहां मजदूर संघ ने सारे मामले को लेकर धरना प्रदर्शन का आह्वान किया है।

एमटीएनएल मजदूर संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि श्री काम्बले का रवैया बेहद तानाशाह पूर्ण है तुनक मिजाज हैं और अपने हितों की रक्षा के लिए सरकारी आदेशों की अवहेलना कर रहे हैं। यही नहीं उनका स्टाफ भी पूरी तरह से उनके शौक से भयभीत है। जिसके चलते मजदूरों का लगातार शोषण किया जा रहा है। कार्यालय परिसर के आसपास गंदगी का अंबार लगा हुआ है भ्रष्टाचार चरम स्तर पर पहुंच चुका है और सरकारी कार्य पूरी तरह से व्यवस्थित हो चुके हैं। ऐसे में मजदूर संघ ने श्री काम के तेज कई बार सभी समस्याओं के बारे में बात की लेकिन श्री काम्बले का तानाशाह रवैया आड़े आ गया और उन्होंने किसी समस्या पर कोई भी कार्य नहीं किया। जिसके चलते समस्याएं लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में मजदूर संघ के पास धरना प्रदर्शन के अतिरिक्त कोई अन्य रास्ता नहीं बचा है।

गौरतलब है कि दूरसंचार अधिकारी मुकुल कांबले लगातार विवादों में बने रहते हैं इस बार मजदूर संघ ने उनके खिलाफ हल्ला बोला है देखना है कि इस पूरे प्रकरण में सरकारी अमला कब तक हरकत में आता है और कब इस संबंध में कोई कार्यवाही की जाती है।