सरस जनवाद

‘तेजाबी वर्षा’ की आशंका हरीश रावत का शिगूफा : विनय कुमार

Share

देहरादून :- भाजपा के वरिष्ठ नेता विनय कुमार ने कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की तेजाबी राजनीति की आशंका जताने पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। कुमार ने कहा है कि यह हरीश रावत का शिगूफा है।

उल्लेखनीय है कि हरीश रावत ने तेजाबी राजनीति की आशंका प्रकट करते हुए फेसबुक पोस्ट में बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि एक आईएएस तीन राजनीतिक दलों के लिए पैसों की उगाही कर रहा है। रावत ने कहा है कि मुझे दो सूत्रों से सूचना मिली है, जो चिंताजनक है। राजनीति में प्रतिद्वंद्विता हो। स्वस्थ प्रतिद्वंद्विता हो। वैचारिक प्रतिद्वंद्विता हो। कर्म करने की प्रतिद्वंद्विता हो। मगर यदि आप अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के ऊपर छात्रों को उकसा करके या कुछ लोगों को मोटिवेट करके, उनके जरिए स्याही में तेजाब मिलाकर कांग्रेस के नेताओं की यात्रा में किसी एक व्यक्ति को चिह्नित करके फेंकना चाहेंगे तो ये उत्तराखंड की राजनीति के लिए कलंक पूर्ण अध्याय होगा।

रावत ने कहा है कि उनकी मां पूर्णागिरि से प्रार्थना है कि ऐसा न हो। यह एक केवल आशंका मात्र हो। यदि ऐसा कोई प्रयास होता है तो यह उत्तराखंड की राजनीति का बड़ा ही दुखद अध्याय होगा। बड़ा ही निंदनीय प्रयास होगा। उत्तराखंड में स्याही फेंकने की घटनाएं इससे पहले कभी नहीं हुई हैं।

इस संदर्भ में भाजपा नेता विनय कुमार का कहना है कि हरीश रावत इस मामले पर केवल राजनीति कर रहे हैं। वह बड़े नेता है। उन्हें मीडिया की सुर्खियों में रहना आता है। इसलिए तेजाबी वर्षा की बात कहकर वह लाइमलाइट में रहना चाहते हैं।