सरस जनवाद

उत्तराखंड में भारी बारिश, गंगोत्री हाइवे , बदरीनाथ-गौरीकुंड, जोशीमठ मलारी राजमार्ग बाधित

Share

देहरादून :- देहरादून सहित राज्य में पहाड़ से लेकर मैदान तक देररात से शुरू बारिश शुक्रवार दोपहर तक जारी रही। जलभराव होने और मार्ग पर मलबा आने से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग और बदरीनाथ-गौरीकुंड,जोशीमठ-मलारी राजमार्ग बंद हो गया है। इनको खोलने का कार्य जारी है। मौसम विज्ञान विभाग ने अगले 48 घंटे के लिए राज्य के कुमाऊं और गढ़वाल मंडल के येलो अलर्ट जारी किया है।

बरसात की वजह से गर्मी से राहत मिली है। मौसम सर्द हो गया। तापमान में गिरावट आई है। शुक्रवार सुबह आसमना बादलों से पटा रहा। देहरादून शहर में सड़कों पर कई स्थानों पर जलभराव होने और नाले-नालियों में पानी जमा होने से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

रुद्रप्रयाग,चमोली,टिहरी, हरिद्वार सहित राज्यभर में पर बारिश हो रही है। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग में नगुण के पास मलबा और बदरीनाथ-गौरीकुंड राजमार्ग,कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे कुलसारी में मलबा आने से बंद हो गया है। भारत-चीन सीमा पर जोशीमठ-मलारी हाइवे सातवें दिन भी अवरुद्ध है। लगातार पत्थर गिरने से मार्ग खोलने में दिक्कत आ रही है।

टनकपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्वाला और धौन के पास मलबा आने से बंद हो गया है। दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई है। कार्यदायी कंपनी मलबा हटाने में जुटी हुई है। ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग चमधार, शिवमूर्ति, तोताघाटी और सौड़पानी में मलबा आने से अवरुद्ध हो गया है। बीआरओ की ओर से सड़क खोलने का कार्य जारी है। कुमाऊं के अधिकतर इलाकों में भी बारिश हो रही है ।नैनीताल,चौखुटिया में मूसलाधार बारिश हो रही है।

मौसम विभाग ने पर्वतीय इलाकों में तेज गर्जना के साथ बिजली गिरने की भी अनुमान जताया है। राजधानी दून सहित पर्वतीय इलाकों में अगले 48 घंटे में तेज गर्जना के साथ दो दौर की बारिश की संभावना है। कई ऐसे इलाके हैं जहां भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।