सरस जनवाद

पहाड़ों पर मौसम की मार, बरसात से भारी तबाही

Share

देहरादून :- मौसम के बदले तेवर ने उत्तराखंड में भारी तबाही मचाई है। पहाड़ों में पत्थर गिर रहे हैं। मैदान में बाढ़ के कारण तबाही हो रही है।

एक बार फिर मौसम विज्ञान केंद्र ने आगामी तीन दिनों के लिए भारी वर्षा की चेतावनी दी है। केंद्र के अनुसार नैनीताल, पिथौरागढ़, चंपावत, बागेश्वर जिले में भारी बारिश हो सकती है। इन जगहों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया। रविवार को नैनीताल, पिथौरागढ़, चंपावत और बागेश्वर में अनेक स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। इसी प्रकार 30 अगस्त और 31 अगस्त को राज्य के कई हिस्सों में बारिश होगी। 1 सितंबर और 2 सितंबर तक वर्षा का यह क्रम जारी रहने की संभावना है।

इससे पहले शुक्रवार को ऋषिकेश-देहरादून को जोड़ने वाला रानीपोखरी पुल के मध्य का हिस्सा ढहने के अलावा एक पिलर बह गया। मोटर पुल का हिस्सा ढहने से गढ़वाल का राजधानी देहरादून से संपर्क कट गया। वर्तमान में ऋषिकेश और पहाड़ जाने वालों को 11 किलोमीटर की दूरी और तय करनी पड़ रही है उन्हें नेपाली फार्म होकर जाना पड़ रहा है। उत्तराखंड में इस समय मानसून के कारण से लगभग 200 से ज्यादा सड़कें पूरी तरह से बाधित हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त हैं। कई जगह भूस्खलन हो रहा है। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने शनिवार को लोगों से आग्रह किया कि वह आवश्यक न हो तो पहाड़ की यात्रा न करें।