सरस जनवाद

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों में विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए तैयार करने हेतु कवायद शुरू

Share

ग्रेटर नोएडा। उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे ऐसे कई विद्यार्थी होते हैं, जिनके पास नवाचार के कई आइडिया होते हैं लेकिन धन व कारोबार के नियमों की जानकारी न होने से आगे नहीं बढ़ पाते। इससे उनका भविष्य तो खराब होता ही है, साथ ही समाज को योग्य युवा उद्यमी नहीं मिल पाते। देश के प्रधानमंत्री भी स्टार्टअप को लेकर युवाओं को प्रोत्साहित करते रहते हैं। ऐसे में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय (सीसीएसयू) से संबद्ध महाविद्यालयों में विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए तैयार करने की कवायद शुरू की जाएगी। महाविद्यालय से क्षेत्रीय उच्च शिक्षा कार्यालय द्वारा ऐसे विद्यार्थियों के नाम मांगे गए हैं, जो किसी स्किल के साथ रोजगार करते हैं।

मेरठ-सहारनपुर मंडल के उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर श्रद्धांजलि देने के लिए आवश्यक है कि विद्यार्थियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया जाए। उनको ऐसे तैयार करें कि रोजगार मांगें नहीं दें। महाविद्यालयों में अध्ययन करने वाले कई विद्यार्थियों के पास बेहतर स्किल होते हैं। कई पढ़ाई के साथ घर या दोस्तों के साथ स्वरोजगार भी करते हैं। ऐसे विद्यार्थियों के पास कई तरह के आइडिया भी होते हैं लेकिन सहयोग के अभाव में दम तोड़ देते हैं। ऐसे में इन विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए तैयार करने के लिए क्षेत्रीय कार्यालय की तरफ से सहयोग देने की योजना पर विचार किया जा रहा है। सीसीएसयू से संबद्ध महाविद्यालयों से ऐसे विद्यार्थियों के नामों की सूची मांगी गई है। इनको सम्मानित भी किया जाएगा, साथ ही उनके आइडिया को धरातल पर उतारने के लिए जानकारी दी जाएगी। स्टार्टअप शुरू करने को लेकर वित्तीय सहयोग से लेकर अन्य तरह की मदद भी की जाएगी।

डॉ. गुप्ता ने बताया कि जो विद्यार्थी कबाड़ या अन्य वस्तुओं से हस्तशिल्प के सामान बनाने में सक्षम हैं। ऐसे विद्यार्थियों को मौका देने के लिए महाविद्यालयों में हाट लगाए जाएंगे। इनमें विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए सामान को प्रदर्शित कर बिक्री की जाएगी। इसके लिए हर संकाय के लिए अलग दिन निर्धारित किए जाएंगे।