सरस जनवाद

कबाड़ से बनी यूजफुल चीजों की लक्ष्मण झूला में लगी प्रदर्शनी

Share

ऋषिकेश :- आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत नगर पंचायत स्वर्गाश्रम जोंक और स्वच्छ सुलभ फाउंडेशन की ओर से कबाड़ से बनी यूजफुल चीजों की लक्ष्मण झूला में प्रदर्शनी लगाई गई। साथ ही लोगों को जागरूक किया गए कि कबाड़ में जाने वाले चीजों को वे घर में गार्डन के कार्यों में प्रयोग में ला सकते हैं।

शुक्रवार को नगर पंचायत स्वर्गाश्रम जोंक के लक्ष्मण झूला क्षेत्र में लगी प्रदर्शनी का शुभारंभ चेयरमेन माधव अग्रवाल व अधिशासी अधिकारी मंजू चौहान ने किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि नगर में स्वच्छ सुलभ फाउंडेशन की टीम लोगों को बेकार और कबाड़ में फेंके जानी वाली वस्तुओं को यूजफुल बनाकर गार्डन व अन्य साज सज्जा में प्रयोग लाने को जागरूक कर रही है। इसी क्रम में शुक्रवार को प्रदर्शनी लगाई गयी। प्रदर्शनी में लोगों को प्लास्टिक को कबाड़ में फेंकने के बजाय कैसे उसे यूजफुल बनाया जा सकता है, के बारे में जानकारी भी दी गई।

फाउंडेशन की अध्यक्ष पार्वती नेगी ने कहा कि आज पर्यावरण के लिए प्लास्टिक बहुत बड़ा अभिशाप है। ऐसे में इसे फेंकने के बजाय उपयोग में लाकर कुछ हद तक हम पर्यावरण में जहर घुलने से बचा सकते हैं।

फाउंडेशन के डायरेक्टर विजय शंकर राय ने कहा कि फाउंडेशन की महिलाओं की टीम और सेवानिवृत्त बैंक कर्मी महेश चिटकारिया के सहयोग से बेकार कोल्डड्रिंक्स की बोतल, पानी की बोतल, दही के प्लास्टिक के डिब्बे, टीन, नारियल, पुराने टायर, जूते के डिब्बे, बेकार तौलिए सहित अन्य चीजों में रंग भरकर घरों में साज सज्जा के लिए और गार्डन में फूल के पौधे, तुलसी, हरी मिर्च लगाने में यूज किया जा सकता है।

सेवानिवृत्त बैंक कर्मी महेश चिटकारिया ने बताया कि पुराने टायरों का इस्तेमाल आप गमले से लेकर सेंट्रल टेबल तक बनाने में कर सकते हैं। बेकार हो चुके टायरों का प्रबंधन सबसे कठिन होता है, लिहाजा इनका पुन: इस्तेमाल करके आप पर्यावरण संरक्षण में भी योगदान दे सकते हैं