सरस जनवाद

बदरीनाथ के ब्रह्म कपाल में पितृों के पिंडदान के लिए पहुंचे श्रद्धालु

Share

गोपेश्वर: पितृ अमावस पर बुधवार को बदरीनाथ के ब्रह्म कपाल में भारत के विभिन्न राज्यों के साथ ही नेपाल से भी भारी संख्या में श्रद्धालु अपने पितृों का पिंडदान करने यहां पहुंचे हैं। देश की सरहदों पर शहीद जवानों और कोरोना काल में दिवंगत हुए लोगों की आत्मा की शांति के लिए भी पिंडदान किया गया।

बुधवार को सुबह से ही ब्रह्म कपाल में पितृ अमावस पर अपने पितृों का पिंडदान करने के लिए श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जारी हो गया था। तीर्थ पुरोहितों ने विधि विधान के साथ श्रद्धालुओं के पितृों का पिंडदान करवाया। इस अवसर पर देश की सरहदों पर शहीद जवानों और कोरोना काल में दिवंगत हुए लोगों की आत्मा की शांति के लिए बदरीनाथ मंदिर के धर्माधिकारी भुवन चन्द्र उनियाल और सेना से सेवानिवृत हुए बाबा उदय सिंह रावत ने पिंडदान तर्पण किया।

ब्रह्म कपाल तीर्थ पुरोहित के अध्यक्ष उमेश सती ने बताया कि पितृ अमावस पर महाराष्ट्र, नेपाल, उड़ीसा, राजस्थान ,मध्य प्रदेश, दिल्ली व देश के भिन्न-भिन्न प्रांतों से लोगों ने अपने पितरों के नाम पिंड दान, तर्पण कराया।