सरस जनवाद

‘पहाड़ी विजन’ को मिला देशभर के स्टार्ट-अप्स में तीसरा पुरस्कार

Share

नैनीताल: आज का दौर नवोन्मेश का है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नवोन्मेश के साथ स्टार्ट-अप्स को लगातार प्रोत्साहित कर रहे हैं। लेकिन कम ही युवा हैं जो ऐसा कुछ नया कर पाते हैं। जनपद के तिरछाखेत-भवाली निवासी एक नवदंपति ने केवल छह माह पूर्व ऐसा करके न केवल मिसाल पेश की है, वरन उनके नवोन्मेष स्टार्ट-अप ‘पहाड़ी विजन’ को छह माह के भीतर ही देश भर के स्टार्ट-अप्स में तीसरा स्थान मिला है। खास बात यह है कि दोनों सरकारी स्कूल-कॉलेजों से पढ़े हैं, और बड़े मुकाम की ओर अग्रसर हैं।

धीरेंद्र और गुंजन का नवोन्मेष स्टार्टअप है ‘पहाड़ी विजन’

आम तौर पर लोग अपने प्रतिष्ठानों, संस्थानों, फैक्टरियों, कंपनियों आदि में बड़ी की संख्या में सुरक्षा व देखभाल के दृष्टिकोण से क्लोज सर्किट यानी सीसीटीवी कैमरे तो लगा लेते हैं, लेकिन वास्तव में उनकी मॉनीटरिंग नहीं कर पाते हैं। कैमरों की रिकॉर्डिंग भी आमतौर पर तभी देखी या खंगाली जाती है जब कोई घटना हो जाती है या किसी खास उद्देश्य के लिए उसे देखना जरूरी होता है।