सरस जनवाद

उत्तराखंड को मिल रहा प्रधानमंत्री मोदी के लगाव का लाभ : CM धामी

Share

नई टिहरी :- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उत्तराखंड से बेहद लगाव है। वह राज्य के युवाओं, माताओं-बहनों और यहां की संस्कृति को लेकर संवेदनशील हैं। उत्तराखंड को लेकर उनका स्पष्ट विजन है। इसका परिणाम है सी प्लेन उतारने की योजना में टिहरी झील का नाम सबसे पहले है। प्रधानमंत्री मोदी की सोच के चलते देहरादून से टिहरी के लिए प्रस्तावित 35 किलोमीटर टनल के प्रस्ताव पर काम शुरू हो चुका है।प्रधानमंत्री के लगाव से उत्तराखंड का लगातार विकास हो रहा है।

उन्होंने यह बात सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज के प्रांगण में आयोजित जनसभा में कही। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री ने अटल आयुष्मान योजना से गरीबों को अस्पताल पहुंचने की सुगम राह दी है। टिहरी झील और आसपास के क्षेत्रों के विकास के लिए 1200 करोड़ रुपये की सैद्धान्तिक स्वीकृति मिल चुकी है। टिहरी झील को विश्व के नक्शे पर स्थापित किया जाएगा। प्रदेश को विश्व की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक राजधानी बनाया जाएगा। प्रदेश का आर्थिक विकास किया जाएगा। इसके लिए दस वर्ष का प्लान तैयार किया जा रहा है। केदारनाथ पुरी में युद्धस्तर पर काम हो रहा है। यहां 150 करोड़ रुपये की योजनाओं का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जल्द ह करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत 250 करोड़ रुपये की योजनाओं पर भी तेजी से काम किया जाएगा। प्रधानमंत्री के प्रयास से प्रदेश को हर माह 22 लाख वैक्सीन की डोज मिली है। दिसंबर तक प्रदेश के सभी लोगों को पहली डोज लग जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब अधिकारियों के बहाने नहीं चलेंगे। समस्याओं के समाधान और निस्तारण की नीति बनेगी। नो पेंडेंसी के साथ काम होगा। युवाओं और बरोजगारों की परेशानी खत्म होगी। 22 हजारों पदों पर भर्ती शुरू कर दी गई है। दो माह में 12 हजारों पदों को भर दिया जायेगा। 6 माह में सभी विभागों के रिक्त पदों को भरने के साथ स्वरोजगार के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना और वीर चंद्र सिंह गढ़वाली योजना का लाभ युवाओं को कैंप लगाकर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि कोविड काल में बेहतर काम करने वाली आशाओं, आंगनबाड़ी, पुलिस मुलाजिमों, पटवारी, लेखपालों को प्रोत्साहन राशि दी जा रही है। कोरोना काल में प्रभावित पर्यटन, यातायात और नौकायन से जुड़े लोगों को भी प्रोत्साहन राशि दी गई है। आजीविका से जुड़ी बहनों को बिना ब्याज के 5 लाख रुपये का ऋण दिया जा रहा है। महाविद्यालय और माध्यमिक विद्यालय में पढ़ने वाले एक-एक लाख छात्रों को टेबलेट दिए जाएंगे। टिहरी में पर्यावरणविद् सुंदर लाल बहुगुणा स्मृति पुरस्कार दिए जाएंगे।

अखोड़ी जीआईसी में जल्द भेजें जाएंगे शिक्षक: अखोड़ी जीआईसी में अध्यापकों की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन को खत्म करने की जिम्मेदारी जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण को सौंपते हुये मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि आंदोलन कर रहे अभिभावकों को बता दें, की जल्द ही विद्यालय में रिक्त पड़े पदों पर शिक्षकों की तैनाती कर दी जाएगी। इस पर जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण ने मुख्यमंत्री का आभार जताया।