सरस जनवाद

यूपी में योगी आदित्यनाथ फिर बनें मुख्यमंत्री: संतोष मांझी 

Share

यहां अपनी किस्मत आजमाना चाह रही हैं. इसी के मद्देनजर आज बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पॉलीटिकल पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस का नेतृत्व जीतन राम मांझी के पुत्र और बिहार के मंत्री संतोष मांझी ने किया. संतोष मांझी ने बताया कि उनकी पार्टी चाहती है कि वह अपना विस्तार यूपी में भी करें ताकि होने वाले विधानसभा चुनाव में भाग ले सके इसीलिए वह यूपी के दौरे पर आए हुए हैं.

आगामी विधानसभा चुनाव में कौन सी पार्टी का पलड़ा भारी रहेगा, उस पर जवाब देते हुए मांझी ने कहा कि यह तो जनता तय करेगी वह किसको ताज पहनाती है लेकिन जिस तरीके से योगी आदित्यनाथ एक कुशल प्रशासक बनकर उभरे हैं तो हम चाहते हैं कि उनको मौका 2022 में भी मिलना चाहिए.

उन्होंने कहा कि पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हैं और जो नए कार्यकर्ता बने हैं, उनसे बातचीत कर यह पता लगाया जाएगा कि हिंदुस्तान आवाम मोर्चा की कितनी संभावनाएं हैं कि वह विधानसभा चुनाव यूपी से लड़ सके. उनका यह भी कहना है कि अगर कार्यकर्ता चुनाव लड़ने के लिए यूपी से कहते हैं और हमारे पास कोई सक्षम कैंडिडेट होगा तो वह निश्चित तौर पर विधानसभा चुनाव में अकेले भाग लेंगे.

संतोष मांझी ने ‘आजतक’ से बात करते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की सभी सीटों पर लड़ने का ऐलान अभी वह नहीं कर सकते हैं, क्योंकि इस मामले में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी. हालांकि उन्होंने कहा कि अगर कार्यकर्ता कहते हैं तो हम अकेले भी सभी सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और अगर कार्यकर्ता कहते हैं कि किसी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ना चाहिए तो हम उसके लिए भी तैयार हैं.

वहीं बिहार से आकर अन्य पार्टियों और उनकी पार्टी का यूपी में चुनाव लड़ने के सवाल पर संतोष मांझी ने कहा कि संविधान में अधिकार है कि कोई भी किसी भी जगह से चुनाव लड़ सकता है . चाहे वह मुकुल साहनी हो या फिर हमारी ही पार्टी क्यों ना हो, इसलिए हम यहां चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. जीतन मांझी के पुत्र संतोष मांझी सोमवार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात करेंगे. गृह मंत्री अमित शाह के आने की वजह से उनकी मुलाकात आज उनसे नहीं हो पाई थी.