सरस जनवाद

कोरोना संक्रमित मरीज अस्‍पताल से भागा, तीसरी लहर की आशंका के बीच बढ़ी चिंता

Share

बेरहामपुर : कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच ओडिशा में एक अस्‍पताल से संक्रमित मरीज फरार हो गया, जिसके बाद यहां प्रशासन में हड़कंप मच गया है। अस्‍पताल में भर्ती कराया गया यह मरीज विचाराधीन कैदी था, जिसे कोरोना संक्रमण के बाद इलाज के लिए अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। अब उसके फरार होने की जानकारी सामने आने के बाद लोगों में भी संक्रमण को लेकर चिंता बढ़ गई है।

उपचाराधीन कैदी के फरार होने की यह घटना गंजाम जिले की है, जो शनिवार को अस्‍पताल से फरार हो गया। बालीगिडा जेल के अधीक्षक एस के सॉय के मुताबिक, कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद 37 वर्षीय कैदी को 31 जुलाई को महाराजा कृष्ण चंद्र गजपति (MKCG) मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसे मादक पदार्थों की तस्करी आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

गिरफ्तारी के एक माह बाद हुआ फरार

गिरफ्तारी के बाद आरोपी को 7 जुलाई को कंधमाल जिले की उप-कारा में रखा गया था। हालांकि इस बीच वह बीमार पड़ गया, जिसके बाद उसे अस्‍पताल ले जाया गया। जांच के दौरान उसके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। MKCG अस्‍पताल में उसका इलाज चल रहा था, जहां से शनिवार (7 अगस्‍त) को वह फरार हो गया। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी को लेकर टीम का गठन किया है और उसकी तलाश की जा रही है।

इस बीच कोरोना संक्रमित कैदी के जेल से फरार होने के बारे में जानकर आम लोगों में भी संक्रमण को लेकर चिंता बढ़ती जा रही है। आशंका है कि अगर कोरोना संक्रमित कैदी किसी अन्‍य के संपर्क में आता है तो वह उन्‍हें भी संक्रमित कर सकता है और फिर उनसे किसी अन्‍य को संक्रमण हो सकता है। इस तरह संक्रम‍ित मरीजों की संख्‍या बढ़ सकती है। कोविड की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर इसे लेकर चिंता अधिक हो रही है।