सरस जनवाद

PAYTM ने 16,600 करोड़ रुपये IPO के लिए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्‍पेक्‍ट्स को सेबी के पास जमा करा दिया

Share

नई दिल्‍ली। सॉफ्टबैंक द्वारा समर्थित डिजिटल पेमेंट और फाइनेंशियल सर्विस कंपनी पेटीएम Paytm) ने अपने प्रस्‍तावित 16,600 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम IPO) के लिए शुक्रवार को ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्‍पेक्‍ट्स को सेबी के पास जमा करा दिया है। इसके साथ ही पेटीएम के आईपीओ की प्रक्रिया आधिकारिक रूप से शुरू हो गई है। डॉक्‍यूमेंट के मुताबिक, कंपनी की योजना फ्रेश इक्विटी शेयर जारी कर 8,300 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है, जबकि अन्‍य 8,300 करोड़ रुपये ऑफर-फॉर-सेल के जरिये जुटाये जाएंगे।

ऑफर-फॉर-सेल में कंपनी के संस्‍थापक विजय शेखर शर्मा, अलीबाबा ग्रुप और इसकी सहयोगी इकाई एंट फाइनेंशियल, एलीवेशन कैपिटल, सैफ पार्टनर्स, बीएच इंटरनेशनल होल्डिंग्‍स आदि द्वारा अपनी हिस्‍सेदारी की बिक्री की जाएगी। ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्‍पेक्‍ट्स DRHP) में शेयर मूल्‍य और कंपनी के किसी भी शेयरधारक द्वारा बेची जाने वाली हिस्‍सेदारी के प्रतिशत का कोई खुलासा नहीं किया गया है।

नोएडा मुख्‍यालय वाली कंपनी, जिसकी मूल कंपनी वन97 कम्‍यूनिकेशन लिमिटेड है, ने कहा कि वह आईपीओ से जुटाई जाने वाली राशि का इस्‍तेमाल अपने पेमेंट ईकोसिस्‍टम को मजबूत बनाने और नए बिजनेस पहलों एवं अधिग्रहण में करेगी।

वन97 को 31 मार्च, 2021 को समाप्‍त वित्‍त वर्ष में 16.96 अरब रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है जो इससे पूर्व वित्‍त वर्ष में हुए 28.42 अरब रुपये के घाटे से बहुत कम है। कंपनी का राजस्‍व पिछले वित्‍त वर्ष में 14.6 प्रतिशत घटकर 28.02 अरब रुपये रहा है। लगभग 10 साल पहले मोबाइल रिचार्जिंग के लिए एक प्‍लेटफॉर्म के तौर पर शुरू होने वाले पेटीएम ने राइड-हैलिंग एप यूबर द्वारा इसे एक क्विक पेमेंट ऑप्‍शन के तौर पर लिस्‍ट करने के बाद बहुत तेजी से वृद्धि की है।

पेटीएम के 16,600 करोड़ रुपये का आईपीओ इसे भारत का सबसे बड़ा सार्वजनिक लिस्टिंग बना देगा, इससे पहले यह रिकॉर्ड 2010 में कोल इंडिया और 2008 में रिलायंस पावर ने बनाया था। जेपीमॉर्गन चेश, मॉर्गन स्‍टेनली, आईसीआईसीआई सिक्‍यूरिटीज, गोल्‍डमैन शाक्‍स, एक्सिस कैपिटल, सिटी और एचडीएफसी बैंक आईपीओ के लिए बुकिंग रनिंग मैनेजर नियुक्‍त किए गए हैं।