सरस जनवाद

केवाईसी अधूरी है तो खाता होगा बंद, ये चार नियम किये लागू

Share

म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में पैसे लगाने वाले निवेशकों ने अपने डीमैट और ट्रेडिंग खातों की केवाईसी नहीं कराई, तो एक अगस्त से ऐसे खातों को बंद कर दिया जाएगा। एनएसडीएल ने सर्कुलर में कहा है कि 31 जुलाई तक अपने खातों की केवाईसी पूरी कर दें।

डिपॉजिटरी के अनुसार, डीमैट व ट्रेडिंग खाते रखने वाले निवेशकों को नो योर कस्टमर (केवाईसी) प्रक्रिया के तहत छह जानकारियां देनी होती हैं। इसमें नाम, पता, पैन विवरण, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और सालाना आय शामिल है। एक जून 2021 के बाद खुलने वाले सभी खातों के लिए ये छह जानकारियां देना अनिवार्य बना दिया है, उससे पहले से निवेशकों का केवाईसी अपडेट कराने के लिए 31 जुलाई तक समय दिया है।

ये चार बदलाव भी डालेंगे आप पर असर

रविवार व छुटृटी में भी आएगा वेतन
अगस्त से वेतन या पेंशन की तिथि पर रविवार या अवकाश हुआ, तो भी खाते में पैसा आएगा। रिजर्व बैंक ने घोषणा की थी कि अगले महीने से नेशनल ऑटोमेटेड क्लीयरिंग हाउस (नाच) की सेवाओं को 24 घंटे सक्रिय रखा जाएगा। किस्त चुकाने के लिए भी पर्याप्त बैलेंस रखना होगा।

एटीएम का इस्तेमाल होगा महंगा
रिजर्व बैंक ने जून में कहा था कि 1 अगस्त से एटीएम इंटरचेंज शुल्क 2 रुपये बढ़ाकर 17 रुपये कर दिया जाएगा। एटीएम के गैर वित्तीय इस्तेमाल पर प्रति ट्रांजेक्शन 6 रुपये शुल्क लगेगा, जो पहले 5 रुपये था। आईसीआईसीआई बैंक ने तीन मुफ्त ट्रांजेक्शन के बाद हर बार 20 रुपये शुल्क की घोषणा की है।

डाक बैंक की घर पर सेवाओं के लिए शुल्क
भारतीय डाक भुगतान बैंक (आईपीपीबी) भी 1 अगस्त से घर पर सेवाएं उपलब्ध कराने पर शुल्क लेगा। उपभोक्ताओं को सुकन्या या अन्य खातों से जुड़ी सेवाएं घर पर लेने के लिए हर बार 20 रुपये व जीएसटी का भुगतान करना होगा। अभी तक यह सेवा निशुल्क है।

एलपीजी गैस कीमतों में होगा बदलाव
सरकार हर महीने की पहली तारीख को रसोई गैस की कीमतों में बदलाव करती है। 1 अगस्त को भी इसकी कीमतों में उछाल या गिरावट आएगी। पिछले कुछ महीनों से एलपीजी के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और एक साल में 40 फीसदी इजाफा हो चुका है। ऐसे में आगे भी कीमतें बढ़ने का अनुमान है।