सरस जनवाद

सीने में दर्द की शिकायत के चलते लखनऊ PGI में एडमिट हुए चिन्मयानंद, सीलबंद लिफाफे में SIT ने पेश की प्रोग्रेस रिपोर्ट

Share

लखनऊ। यौन शोषण के साथ दुष्कर्म के आरोप में घिरे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद को सोमवार सुबह सीने में दर्द की शिकायत के चलते लखनऊ रेफर किया गया। अस्पताल पहुंचते ही उन्हें कॉर्डियोलॉजी विभाग प्रमुख ने अपनी निगरानी में लेकर प्राथमिक जांच शुरू कर दी है। हालांकि एसजीपीजीआई से पहले चिन्मयानंद को केजीएमयू में दाखिल कराने का इरादा था, लेकिन अज्ञात कारणों से ऐन वक्त पर कार्यक्रम में तब्दीली कर दी गई।

बता दें कि वह कार्डियो एमआईसीयू में बेड नंबर 14 में भर्ती हैं। वरिष्ठ कार्डियोलाजिस्ट डॉ. पीके गोयल उनका इलाज कर रहे हैं। स्वामी चिन्मयानंद के पहुंचते ही पीजीआई के निदेशक डॉ. राकेश कपूर, सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल, पीआरओ आशुतोष सोती वार्ड में उनका हाल चाल जानने पहुंचे। सीएमएस डॉ. अमित अग्रवाल के मुताबिक, हार्ट में ब्लॉकेज की दिक्कत की शिकायत को लेकर उन्हें कार्डियक आइसीयू में 11:45 बजे भर्ती किया गया है। डॉ पीके गोयल की निगरानी में इलाज किया जा रहा है।

इसके साथ ही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने आज स्‍वामी चिन्‍मयानंद केस की प्रोग्रेस रिपोर्ट इलाहाबाद हाईकोर्ट में पेश कर दी है। एसआईटी की ओर से 3 सीलबंद लिफाफे में प्रोग्रेस रिपोर्ट पेश की गई है। एसआईटी ने सबूत के तौर पर पेन ड्राइव, सीडी व अन्य डाक्यूमेंट भी कोर्ट में पेश किए हैं। एसआईटी आईजी नवीन अरोड़ा भी कोर्ट में मौजूद हैं। बता दें कि स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल कर स्वामी चिन्मयानंद पर शारीरिक शोषण तथा कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद करने के आरोप लगाए थे। लड़की ने अपनी और अपने परिवार को जान का खतरा बताया था।