सरस जनवाद

उत्तराखंड के इन शहरों में स्थापित होंगे 8 नए महाविद्यालय

Share

– सात महाविद्यालयों का स्नातकोत्तर में होगा उच्चीकरण

देहरादून :- उत्तराखंड के छह जनपदों में आठ नए महाविद्यालय स्थापित किए जाएंगे।सात महाविद्यालयों को स्नातक से स्नातकोत्तर में उच्चीकरण किया जाएगा। इसके अलावा शैक्षणिक पदों का सृजन भी किया जाएगा। शनिवार को राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मालदेवता (रायपुर) में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने संकाय भवन के शिलान्यास के मौके पर यह घोषणा की।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व से संचालित राजकीय महाविद्यालयों में वहां की आवश्यकतानुसार स्नातक स्तर पर 50 एवं स्नातकोत्तर स्तर पर 10 अतिरिक्त शैक्षणिक पदों का सृजन किया जाएगा। राज्य के समस्त शासकीय महाविद्यालयों में कम से कम एक वीडियो कांफ्रेसिंग एवं अन्य आवश्यक आधुनिक तकनीकी सुविधायुक्त लेक्चर हाल स्थापित किया जायेगा।

यहां बनेंगे महाविद्यालय

नए महाविद्यालयों की स्थापना देहरादून शहर, हरिद्वार शहर(भूपतवाला), हल्द्वानी शह , गदरपुर उधम सिंह नगर, दन्या अल्मोड़ा, कल्जीखाल पौड़ी, खिर्सु पौड़ी, देवाल चमोली होगी।

उच्चीकरण होने वाले महाविद्यालय

राज्य के सात महाविद्यालयों का स्नातक से स्नातकोत्तर में उच्चीकरण किया जाएगा। इनमें राजकीय महाविद्यालय, मुनस्यारी(पिथौरागढ़), राजकीय महाविद्यालय, गैरसैंण(चमोली), राजकीय महाविद्यालय, कपकोट(बागेश्वर), राजकीय महाविद्यालय सोमेश्वर, राजकीय महाविद्यालय, हल्दूचौड़(नैनीताल), राजकीय महाविद्यालय, लक्सर(हरिद्वार), राजकीय महाविद्यालय, थलीसैंण(पौड़ी) शामिल हैं।

उच्चस्तरीय समितिः नई शिक्षा नीति के क्रम में शासकीय विश्वविद्यालयों में इण्टर-डिसिप्लिनरी कोर्स प्रारंभ करने एवं वर्तमान पाठ्यक्रमों में बदलाव के लिए सुविख्यात शिक्षाविद की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय समिति गठित की जाएगी। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मालदेवता (रायपुर) में स्नातकोत्तर स्तर पर विज्ञान संकाय एवं गृह विज्ञान की कक्षाएं भी प्रारम्भ की जाएंगी।

रोजगारपरक और गुणात्मक शिक्षा पर विशेष फोकस: उच्च शिक्षा मंत्री

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि राज्य में एक लाख सात हजार छात्र-छात्राएं वर्तमान में उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। सभी महाविद्यालयों में 4 जी वाई फाई की सुविधा दी गई है। एक-एक टैबलेट की व्यवस्था की जा रही है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में राज्य में अनेक कार्य किये जा रहे हैं। रोजगारपरक शिक्षा एवं शिक्षा के गुणात्मक विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

इस मौके पर विधायक उमेश शर्मा काऊ, दिलीप सिंह रावत, मुकेश कोली, राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मालदेवता (रायपुर) के प्राचार्य प्रो.सतपाल सिंह सहानी एवं अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।