सरस जनवाद

भाजपा कार्यालय पर जमकर चले जूते लात, पवन गोयल अस्पताल में भर्ती

Share

गाजियाबाद। भाजपा के नेहरूनगर स्थित क्षेत्रीय कार्यालय पर आज दोपहर चल रही पार्टी की बैठक के दौरान पूर्व विधायक प्रशांत चौधरी व निगम के पार्षद के बीच हुये जूतम पैजार का मामला हाईप्रोफाइल बन गया है। पार्टी के आला नेताओ ने चुप्पी साध रखी है,जब कि इस प्रकरण में जातिसूचक शब्द लेकर पूर्व विधायक पर की गयी टिप्पणी को लेकर विवाद बताया जा रहा है,साथ ही पार्षद पवन गोयल के समर्थको की ओर से धक्का मुक्की,मार पिटाई के आरोप को भी निराधार बताया गया है।बहरहाल पूर्व विधायक जिले से बाहर बताये गये है। घायल हुये पार्षद का एक अस्पताल में इलाज चल रहा है।

बीजेपी के नेहरू नगर स्थित कार्यालय में जब प्रदेश की क्षेत्रीय कार्यसमिति की बैठक होनी थी,उस दौरान बीजेपी के निगम पार्षद व जीडीए बोर्ड के सदस्य पवन गोयल मौजूद थे। उसी दौरान पूर्व विधायक एंव प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य प्रशांत चौधरी बैठक में भाग लेने पहुंचे। बताया जाता है कि उसी दौरान कहासुनी हो जाने पर दोनो के बीच जूतमपैजार की नौबत आ गयी। जब कि बताया जा रहा है कि बीजेपी नेता शुगर व हाईब्लड प्रेशर के शिकार है,उनकी जुँबा से कोई अशोभनीय टिप्पणी हुई,जिसे लेकर विवाद बढा ओर पवन गोयल विवाद के बीच गिर पडे। आनन फानन में उनके समर्थको ने उन्हें मेरठ रोड स्थित गायत्री अस्पताल में भर्ती कराया। दोनो पक्षोे के बीच जूतमपैजार का यह मामला सोशल मीडिया पर हाईफाई हो गया। जिसे लेकर पार्टी नेताओ ने चुप्पी साध ली।

अनुशासन की बात करने वाली भाजपा पार्टी में हुआ यह विवाद लखनऊ तक पहुंच गया है। पार्टी के पदाधिकारी दोनो पक्षो के इस विवाद पर बोलने को तैयार नही है। हालाँकि पार्टी सूत्रों की माने तो विवाद किस पहलू को लेकर हुआ,उसे लेकर कार्यालय पर ही कई घंटे नेताओ की ठक चली। विवाद के इस दौर में पार्टी के पूर्व विधायक प्रशांत चौधरी जिले से बाहर गये है।