सरस जनवाद

केंद्रीय गृह सचिव ने की बैठक, दिये कई निर्देश

Share

01HREG376 ग्वालियर: दिन व रात का पारा स्थिर, तीन दिन बाद ठंड बढऩे के आसार

ग्वालियर, 01 दिसम्बर (हि.स.)। फिलहाल पूरे देश में मौसम को प्रभावित करने वाली कोई मौसम प्रणाली मौजूद नहीं होने से गुरुवार को दिन व रात का पारा स्थिर रहा। मौसम विज्ञानियों का पूर्वानुमान है कि शुक्रवार को उत्तर भारत में एक पश्चिमी विक्षोभ आने वाला है। इसके चलते आगामी दिनों में रात के तापमान में आंशिक वृद्धि होने की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव समाप्त होने के बाद छह दिसम्बर से ग्वालियर चंबल अंचल के लोगों को कंपकंपाने वाली ठंड का सामना करना पड़ सकता है।

बता दें पिछले कुछ दिनों से चल रहीं उत्तरी सर्द हवाओं के प्रभाव से 28 नवम्बर को ग्वालियर शहर में रात का तापमान 8.0 डिग्री सेल्सियस पर चला गया था, जबकि पिछले दो दिन से रात का तापमान 9.0 और दिन का तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के आसपास टिका हुआ है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि शुक्रवार को एक पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत में प्रवेश करेगा। इसके प्रभाव से हिमालय के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी होगी। चार से पांच दिसम्बर को ग्वालियर-चंबल अंचल में भी पश्चिमी विक्षोभ का आंशिक असर देखने को मिलेगा। इस दौरान यहां हल्के से मध्यम बादल छाने के साथ रात के तापमान में आंशिक वृद्धि हो सकती है। पांच दिसम्बर को पश्चिमी विक्षोभ उत्तर भारत से आगे बढ़ जाएगा। इसके बाद हिमालय से आने वाली सर्द हवाएं उत्तर व मध्य भारत सहित ग्वालियर-चंबल में ठंड बढ़ाएंगी।

स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार पिछले दिन की अपेक्षा गुरुवार को अधिकतम तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस आंशिक वृद्धि के साथ 26.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 0.5 डिग्री सेल्सियस कम है। न्यूनतम तापमान भी 0.3 डिग्री सेल्सियस आंशिक वृद्धि के साथ 8.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह भी औसत से 0.3 डिग्री सेल्सियस कम है।