सरस जनवाद

इस बार आठ दिन के होंगे शारदीय नवरात्र, डोली में सवार होकर आएंगी मां दुर्गा

Share

हरिद्वार :- सनातन धर्म में नवरात्र का खास महत्व है। वर्षभर में चार नवरात्र में से शारदीय नवरात्र का अपना विशेष महत्व है। नवरात्र में नौ दिन मां दुर्गा की उपासना की जाती है। मान्यता है कि इन नौ दिनों तक मां भगवती देवलोक से पृथ्वी पर विचरण करती हैं और अपने भक्तों के सभी कष्टों को हर लेती हैं। इस साल 7 अक्टूबर से शुरू हो रहे शारदीय नवरात्र 14 अक्टूबर तक रहेंगे और 15 अक्टूबर को विजयदशमी यानी दशहरा मनाया जाएगा।

विदित हो कि नौ दिन का पर्व शारदीय नवरात्र अश्विनी मास शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा 7 अक्टूबर से शुरू होकर 14 अक्टूबर तक चलेगा। इस बार नवरात्र आठ दिन के हैं। 15 अक्टूबर को विजयदशमी मनाया जाएगी। उसी दिन दुर्गा विसर्जन भी होगा। ज्योतिषाचार्य पंत्र देवेन्द्र शुक्ल शास्त्री ने बताया कि इस साल महाष्टमी 13 अक्टूबर बुधवार को पड़ रही है। ज्योतिष के अनुसार इस साल चतुर्थी तिथि का क्षय होने से शारदीय नवरात्र 8 दिन के हैं। ऐसे में 13 अक्टूबर को अष्टमी व्रत उत्तम रहेगा, जबकि 14 अक्टूबर को महानवमी मनाई जाएगी और कन्या पूजन के साथ नवरात्र व्रत का समापन होगा। शुक्ल के मुताबिक नवरात्र के पहले दिन चित्रा नक्षत्र में घट स्थापन का शुभ मुहूर्त है। सूर्य उदय से लेकर सुबह 11. 55 तक घट स्थापन का विशेष योग बन रहा है। इस बार मां दुर्गा डोली में सवार होकर आएंगी। पौराणिक मान्यता के अनुसार मां दुर्गा अपने आठों रूप में अलग-अलग सवारी पर सवार होकर पृथ्वी पर आई हैं। ऐसे में इस बार नवरात्र की शुरूआत गुरुवार को हो रही है, ऐसे में मां दुर्गा इस नवरात्र में डोली में सवार होकर आएंगी।