सरस जनवाद

उत्तराखंड में प्राइमरी स्कूल खुले

Share

देहरादून: उत्तराखंड में मंगलवार को करीब 18 माह बाद कक्षा एक से पांचवीं तक के 14,007 प्राइवेट और सरकारी प्राइमरी स्कूल कोरोना नियमों के पालन के साथ खुल गए। मार्च 2000 में प्राथमिक स्कूलों को बंद किया गया था।

मुख्यमंत्री के परामर्श के बाद शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने राज्य में कोरोना की स्थिति नियंत्रित होने के बाद स्कूल खोलने के आदेश जारी किए थे। इस बारे में शासन ने एसओपी भी जारी की है। एसओपी के दायरे में बच्चों को प्रवेश दिया गया। कक्षाएं तीन घंटे ही चलेंगी।

राज्य में राजकीय प्राथमिक विद्यालय 11653, राजकीय सहायता प्राप्त विद्यालय 11, अन्य सरकारी विद्यालय 53 और निजी प्राथमिक विद्यालय 2290 है। सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में लगभग तीन लाख 63 हजार और निजी स्कूलों में चार लाख से अधिक छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं।

शिक्षा विभाग ने कहा है कि स्कूलों में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से पढ़ाई होगी। अभिभावकों पर बच्चों को स्कूल भेजने का कोई दबाव नहीं होगा। डायट और एससीईआरटी के सहयोग से बच्चों के लिए ब्रिज कोर्स शुरू किया जाएगा।

प्राथमिक शिक्षक के प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय चौहान ने बताया कि कोरोना नियमों के पालन का पूरा ख्याल रखा जाएगा। बच्चों की पढ़ाई के साथ उनके स्वास्थ्य की चिंता भी स्कूल और शिक्षक करेंगे।