सरस जनवाद

सावधान : मलारी हाइवे पर पहाड़ी से पत्थरों का गिरना जारी, आवाजाही रुकी

Share

गोपेश्वर :- चमोली जिले के जोशीमठ के नीती-मलारी हाइवे पर तमक नाले के समीप बुधवार से पहाड़ी से पत्थरों का गिरना जारी है। बीच-बीच में बीआरओ मार्ग खोल रहा है लेकिन बार-बार पहाड़ी से गिर रहे पत्थरों से यहां पर आवाजाही कठिन हो रही है। मार्ग के दोनों ओर वाहनों की कतार लगी हुई है। 15 अगस्त मनाने के लिए गांव पहुंच रहे ग्रामीण भी यहां पर फंसे हुए हैं।

नीती घाटी को सड़क सुविधा से जोड़ने वाली नीती-मलारी सड़क पर तमक गांव के समीप पहाड़ी से बुधवार सुबह से पत्थर गिर रहे हैं। बुधवार सुबह यहां मलबे में एक वाहन फंस गया था। उसे बीआरओ ने सुरक्षित निकाला था। इसके बाद बीआरओ ने वाहनों की आवाजाही रोक दी थी। गुरुवार को बीआरओ ने मार्ग खोल दिया, लेकिन शुक्रवार से फिर पहाड़ी से पत्थरों का गिरना शुरू हो गया है। यह सिलसिला शनिवार को भी जारी है।

बीआरओ के कमांडर कर्नल मनीष कपिल ने बताया कि सड़क पूरी तरह से सुरक्षित है। पहाड़ी से गिर रहे मलबे और पत्थरों से बने खतरे को देखते हुए तमक गांव के समीप वाहनों की आवाजाही रोकी गई है। पहाड़ी से मलबा गिरने का सिलसिला थमते ही सड़क पर आवाजाही सुचारु कर दी जाएगी।

जनजाति कल्याण समिति के सचिव दीवान सिंह खाती का कहना है कि तमक नाले से आगे काफी लोग फंसे हुए हैं। यहां फंसे हुए लोगों को निकाला जाए।