सरस जनवाद

अमेरिकी रिपोर्ट में खुलासा, बुहाना लैब से लीक हुआ था कोरोना

Share

वाशिंगटन. कोरोना वायरस (Corona Virus) की उत्पत्ति (Origin) को लेकर एक अमेरिकी रिपोर्ट में सनसनीखेज खुलासा किया गया है. अमेरिकी रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से जारी की गई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की लैब से कोरोना के लीक होने के ढेर सारे सबूत मौजूद हैं. रिपोर्ट का कहना है कि न सिर्फ ये वायरस वुहान लैब से लीक हुआ बल्कि चीनी वैज्ञानिकों ने इंसानों को संक्रमित करने के लिए इस वायरस को मोडिफाई भी किया.सीनियर रिपब्लिकन नेता माइक मैक्कॉल ने कोरोना की उत्पत्ति की निष्पक्ष जांच की मांग की है. हालांकि रिपब्लिकन पार्टी का ये निष्कर्ष अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों से अलग है. अभी अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियां कोरोना की उत्पत्ति को लेकर किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची हैं.मई महीने में राष्ट्रपति जो बाइडन ने दिए थे जांच के आदेशबीते मई महीने में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अमेरिकी खुफिया एजेंसियों से कोविड-19 महामारी की उत्पत्ति की जांच के अपने प्रयासों को ‘दोगुना’ करने के लिए कहा था. उन्होंने कहा था कि यह निष्कर्ष निकालने के लिए अपर्याप्त सबूत हैं कि ‘क्या यह किसी संक्रमित जानवर के साथ मानव संपर्क से उभरा है या प्रयोगशाला में हुई दुर्घटना से उभरा है.’बाइडन ने एक बयान में कहा था, ‘अधिकांश खुफिया समुदाय को यह नहीं लगता है कि इसका आकलन करने के लिए पर्याप्त जानकारी है कि किसकी संभावना अधिक है.’ उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं को जांच में सहायता करने का निर्देश दिया था और चीन से महामारी की उत्पत्ति को लेकर अंतरराष्ट्रीय जांच में सहयोग करने का आह्वान किया. बाइडन ने अमेरिकी खुफिया एजेंसियों से 90 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने को कहा था. उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं को जांच में सहायता करने का निर्देश दिया और चीन से महामारी की उत्पत्ति में अंतरराष्ट्रीय जांच में सहयोग करने का आह्वान किया था.चीन इन आरोपों का लगातार करता रहा है विरोधबता दें कि चीन लगातार इन आरोपों का विरोध करता रहा है. निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कोरोना को चीनी वायरस कहे जाने पर चीन की तरफ से जोरदार आपत्ति दर्ज कराई गई थी. यहां तक कि चीन ने कोरोना को लेकर अमेरिका पर कई आरोप लगाए थे.