सरस जनवाद

Delhi-NCR नोएडा-ग़ाज़ियाबाद समेत कई शहरों में मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में कमर्शियल वाहनों की हड़ताल आज

Share

नई दिल्ली। 19 सितंबर को दिल्ली में यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन सहित 30 बड़े ट्रांसपोर्टर्स संगठन हड़ताल करने जा रहे हैं। ये हड़ताल नए मोटर व्हीकल एक्ट के खिलाफ बुलाई गई है। दिल्ली एनसीआर में पढ़ने वाले स्कूली बच्चों और ऑफिस जानें वालों पर इसका सबसे ज्यादा असर पड़ेगा। हड़ताल से दिल्ली वालों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।बता दें कि गुरूवार को होने वाली इस हड़ताल में सार्वजनिक वाहनों के साथ-साथ स्कूल बस और कैब भी शामिल हैं।

संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट में कई गुना तक बढ़े जुर्माने, बीमा की राशि और आरएफआइडी टैग की अनिवार्यता सहित अन्य मसले को लेकर ट्रक, टेंपो, बस, ऑटो, टैक्सी और कैब सर्विस ने हड़ताल का ऐलान किया है। हड़ताल की घोषणा के बाद दिल्ली एनसीआर के कई स्कूलों ने छुट्टी कर दी है। यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने गुरुवार को हड़ताल बुलाई है। गुरुवार को सुबह 6 बजे से प्राइवेट कैब, ऑटो, बस (स्कूल बस समेत), पर्यटक बसें और टैक्सी सेवाएं प्रभावित होंगी। हालांकि प्रशासन या सरकारों ने इसको लेकर कोई सलाह या आदेश जारी नहीं किया है।

दिल्ली के अलावा एनसीआर में आने वाले- गाजियाबाद, गुरुग्राम (गुड़गांव) और नोएडा के स्कूलों ने भी छुट्टी की घोषणा कर दी है। 1 सितंबर से लागू हुए नए नियम के बादेश में कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जहां पर यातायात का नियम तोड़ने पर लाखों रुपये का जुर्माना देना पड़ा है।